Xossip

Go Back Xossip > Mirchi> Stories> Hindi > कुछ तान्त्रिक घटनाऐं

Reply Free Video Chat with Indian Girls
 
Thread Tools Search this Thread
  #71  
Old 1st January 2017
cobra1255's Avatar
cobra1255 cobra1255 is offline
 
Join Date: 24th May 2015
Posts: 764
Rep Power: 7 Points: 1239
cobra1255 is a pillar of our communitycobra1255 is a pillar of our communitycobra1255 is a pillar of our communitycobra1255 is a pillar of our communitycobra1255 is a pillar of our communitycobra1255 is a pillar of our community
रक्त तिलक से शुशोभित सन्यासी ने वापस रक्त पात्र उठाया और अनगढ़ पत्थरो के रूप में शुशोभित शक्ति पीठ को रक्त स्नान कराया। रक्तस्नान के बाद कुछ और पूजन सामग्री अर्पित की गयी और शक्ति पीठ के सामने एक चौमुखी दीपक जलाया सन्यासी ने। रात की गहन नीरवता को चीर गहन मंत्रोच्चार की ध्वनियां शमशान में गूंजती रही । मंत्रोचारण कुछ देर और चलता रहा फिर रुक गया । कुछ देर बाद सन्यासी ध्यान मग्न से प्रतीत होने लगे। शमशान की सांय सांय करती भयानक नीरवता लौट आई थी। चिताग्नि पहले की तरह लपलपा रही थी। ध्यान मग्न बाबा की आँखे बंद थी और शरीर बज्रासन में तना हुआ था। करीब ३० मिनट के गहन ध्यान के बाद अब सन्यासी के होठ फिर हरकत में आये,,,,,,,,
लेकिन इस बार मंत्रोचारण कुछ अजीब सा प्रतीत हो रहा था मुझे। तामसिक मंत्रो की तीक्ष्णता मंत्रो से गायब हो गई थी । ये शाबर मंत्र या संस्कृत मंत्र नहीं थे। कुछ था जो मेरे समझ से परे था। मेने दमन की ओर देखा, आँखे मिली, दोनों की आँखों में सवाल तैर रहा था।

Reply With Quote
  #72  
Old 1st January 2017
cobra1255's Avatar
cobra1255 cobra1255 is offline
 
Join Date: 24th May 2015
Posts: 764
Rep Power: 7 Points: 1239
cobra1255 is a pillar of our communitycobra1255 is a pillar of our communitycobra1255 is a pillar of our communitycobra1255 is a pillar of our communitycobra1255 is a pillar of our communitycobra1255 is a pillar of our community
Quote:
Originally Posted by premsharma.78 View Post
एक महान लेखक की याद ताजा कर दी । आपके इस सूत्र ने उनकी लेखनी भी इतनी शसक्त थी ।
एक दम जादुई सी ।
ये मेरी लेखनी नही सिर्फ काॅपी पेस्ट का कमाल है मित्र ! उत्साह बढ़ाने के लिए धन्यवाद !

Reply With Quote
  #73  
Old 1st January 2017
cobra1255's Avatar
cobra1255 cobra1255 is offline
 
Join Date: 24th May 2015
Posts: 764
Rep Power: 7 Points: 1239
cobra1255 is a pillar of our communitycobra1255 is a pillar of our communitycobra1255 is a pillar of our communitycobra1255 is a pillar of our communitycobra1255 is a pillar of our communitycobra1255 is a pillar of our community
ये क्या हो रहा है। कौन से मंत्र है ये। क्या असमिया भाषा में मंत्र पाठ किया जा रहा है। बलि कर्म के तरीके और शक्ति पीठ स्थापना विधि से ये तो स्पष्ट हो गया की ये किसी महाशक्ति की ही पूजन साधना चल रही है। साधना का उद्देश भी मुझे सिर्फ अपनी आराध्या की आराधना ही लगी क्योकि अभी तक कोई भी प्रयोग करने की चेष्टा नहीं की गई थी। सन्यासी के मंत्रोचारण धीरे धीरे मंत्रोचारण न लग कर भजन से प्रतीत होने लगे। धीरे धीरे गायन में करुणा भी घुलने लगी। वो तन्मयता से आँखे बंद किये उस महा तामसिक वातावरण में उन भजन सदृश्य मंत्रो का गायन करते रहे। हमारी समझ से सब कुछ बाहर था। इस तामसिक वातावरण मे इन स्वर लहरियों के गायन का कारण ????? . क्या है ये????? कई प्रश्न हमारे दिमागों में भूचाल ला रहे थे। करीब एक घंटे के मंत्रोचारण या कहे गायन के बाद सन्यासी चुप हुवे। धीरे धीरे आँखे खोली।

Reply With Quote
  #74  
Old 1st January 2017
Charlie 007's Avatar
Charlie 007 Charlie 007 is offline
Daru Izz Life :yo:
 
Join Date: 1st January 2017
Location: Lwda Lehsun
Posts: 8,225
Charlie 007 has disabled reputations
Superb story buddy
Keep Rocking

Reply With Quote
  #75  
Old 1st January 2017
Ag87's Avatar
Ag87 Ag87 is offline
Custom title
 
Join Date: 30th October 2014
Location: Noida
Posts: 9,597
Rep Power: 22 Points: 9362
Ag87 has celebrities hunting for his/her autographAg87 has celebrities hunting for his/her autographAg87 has celebrities hunting for his/her autographAg87 has celebrities hunting for his/her autographAg87 has celebrities hunting for his/her autographAg87 has celebrities hunting for his/her autographAg87 has celebrities hunting for his/her autographAg87 has celebrities hunting for his/her autographAg87 has celebrities hunting for his/her autographAg87 has celebrities hunting for his/her autograph
Send a message via AIM to Ag87 Send a message via Yahoo to Ag87 Send a message via Skype™ to Ag87
Bahut dino baad koi story padne layak mili hai xossip per thanks buddy

Reply With Quote
  #76  
Old 1st January 2017
cobra1255's Avatar
cobra1255 cobra1255 is offline
 
Join Date: 24th May 2015
Posts: 764
Rep Power: 7 Points: 1239
cobra1255 is a pillar of our communitycobra1255 is a pillar of our communitycobra1255 is a pillar of our communitycobra1255 is a pillar of our communitycobra1255 is a pillar of our communitycobra1255 is a pillar of our community
बहुत बहुत धन्यवाद मित्र !

Reply With Quote
  #77  
Old 1st January 2017
cobra1255's Avatar
cobra1255 cobra1255 is offline
 
Join Date: 24th May 2015
Posts: 764
Rep Power: 7 Points: 1239
cobra1255 is a pillar of our communitycobra1255 is a pillar of our communitycobra1255 is a pillar of our communitycobra1255 is a pillar of our communitycobra1255 is a pillar of our communitycobra1255 is a pillar of our community
दूर से स्पष्ट तो नहीं हो पाया पर अब मुझे उनकी आँखो में अब वो तामसिक क्रोध कम महसूस हो रहा था जिसे मैंने कीकर के पेंड के नीचे झेला था। क्रोध की जगह अब उन आँखों में शांति का वास दिख रहा था। शायद ये उनके उस भजन रूपी मंत्रोचार का फल था। सन्यासी ने शक्ति स्थापना को नमन किया। दिशा नमन किया, भूमि और आकाश को नमन किया। गुरु नमन किया और उठ कर खड़े हुवे । टहलते हुवे चिता की तरफ गए और चिता को फिर से नमन किया। अब वो डोम की तरफ घूम कर बोले ,,,,,,, क्या रे करिया ,,,,,,,,वो आया की नहीं ? नहीं महाराज , नहीं आया ,,,,,,,, डोम राज ने उत्तर दिया। अब तक ऊंघना छोड़ सजग हो चुके थे वे. मेरे और दमन के कान खड़े हो गए, अब ये क्या चक्कर है ? किसका इंतज़ार कर रहे है ये सन्यासी और डोमराज? क्या ये किसी का आह्वान था ? यही था तो इतने प्रचण्ड पूजन के बाद भी वो क्यों नहीं आया ? वो नहीं आया फिर भी सन्यासी की आँखों में शांति क्यों ? प्रश्न हज़ारो थे, लेकिन उत्तर दे सक्ने वाला हमसे ५०-६० मीटर दूर चिता के बराबर में खड़ा था,,,,

Reply With Quote
  #78  
Old 1st January 2017
cobra1255's Avatar
cobra1255 cobra1255 is offline
 
Join Date: 24th May 2015
Posts: 764
Rep Power: 7 Points: 1239
cobra1255 is a pillar of our communitycobra1255 is a pillar of our communitycobra1255 is a pillar of our communitycobra1255 is a pillar of our communitycobra1255 is a pillar of our communitycobra1255 is a pillar of our community
सन्यासी की सजग निगाहे शमशान का जायजा लेते घूम रही थी । डोम राज सजग हो अब तक सन्यासी के पास आ चुके थे ! पूजन सामग्री और बलि भोग अभी भी जो का त्यों ही पड़ा था। करिया ,, अँधा है क्या ? ... वो आया है। सन्यासी ने कुछ अनुभव सा किया। किधर महाराज ,,,,डोम सकपकाते हुए बोला। अचानक सन्यासी की दृष्टि उस दीवार की तरफ पडी और जम सी गई, जिसकी ओट में हम और दमन जी छुपे हुए थे ! दिल ने एक बड़ी धड़कन से शरीर को किसी खतरे के लिए तैयार किया। में दमन की ओर घुमा ,,,दोनों बैग उठा लो दमन जी। शायद सन्यासी ने हमें देख लिया है। कुछ जरूरी तांत्रिक सामान तो में पहले ही जेब में डाल चूका था। कौन हे वहां ??? सन्यासी की कड़कती हुई रोबदार आवाज शमशान में गूंज गई। सामने आ, नहीं तो नष्ट कर दूंगा !!! इस बार आवाज़ में रोष भरा था। मैंने दमन की ओर देखा और फुसफुसाया । अब तो सामने चलना ही होगा दमन , चलो चलते है।
उधर शायद सन्यासी का क्रोध जग गया था। ,,आवाज़ गूंजी, भेखिया !!,, जा जा पकड़ ला उसे। आवाज़ ने हमारा ध्यान फिर से चिता की तरफ कर दिया।

Last edited by cobra1255 : 1st January 2017 at 06:15 PM.

Reply With Quote
  #79  
Old 1st January 2017
cobra1255's Avatar
cobra1255 cobra1255 is offline
 
Join Date: 24th May 2015
Posts: 764
Rep Power: 7 Points: 1239
cobra1255 is a pillar of our communitycobra1255 is a pillar of our communitycobra1255 is a pillar of our communitycobra1255 is a pillar of our communitycobra1255 is a pillar of our communitycobra1255 is a pillar of our community
अचानक हमें हवा का एक गर्म झोका सा अपनी तरफ आता महसूस हुआ। ओह्ह, सन्यासी ने हमें पकड़ लेने को किसी प्रेत को कहा था। हवा का वो गर्म झोका हमारे पास तक और भी तापयुक्त हो गया मानो झुलसा ही देगा । फिर सहसा ही वो झुलसाता सा ताप गायब हो गया। हमारे विशिष्ट कवचो ने हमारी रक्षा कर ली थी। प्रेत प्रहार असफल देख, सन्यासी ने कुछ बुदबुदाया और फिर से गरजा, दिमिका
!! इधर आ ,,,,,,तत्काल एक बुढ़िया जिसकी कमर झुकी हुई थी रुदन करती, सन्यासी के बाए हाथ को प्रगट हुई। सन्यासी ने उसके बाल पकड़ लिए और उन्हें हिलाते हुए गरजा ।,,... जा रे चोट्टी पकड़ ला उसे। खाली हाथ आयी तो ये सारे बाल उखाड़ कर तुझे ही खिला दूंगा।
दिमिका एक शाकिनी शक्ति है , सन्यासी का उससे इस प्रकार का व्यवहार उसकी साधना शक्ति को दर्शाता था। अब छुपे रहने का कोई कारण नहीं था। मैंने दमन को इशारा किया। हम दोनों वो छोटी सी टूटी दीवार फाद कर खुले में आ गए. दिमिका तीव्र वेग से हमारी तरफ झुकी कमर को लहराते हुए भाग छूटी। उसका रुदन और भी वीभत्स हो उठा था,,,,,,,,, जो शमशान के वातावरण और भी डरावना बना रहा था,,,,

Last edited by cobra1255 : 1st January 2017 at 06:26 PM.

Reply With Quote
  #80  
Old 1st January 2017
cobra1255's Avatar
cobra1255 cobra1255 is offline
 
Join Date: 24th May 2015
Posts: 764
Rep Power: 7 Points: 1239
cobra1255 is a pillar of our communitycobra1255 is a pillar of our communitycobra1255 is a pillar of our communitycobra1255 is a pillar of our communitycobra1255 is a pillar of our communitycobra1255 is a pillar of our community
हम दोनों दीवार फाद कर खुले में सन्यासी के सामने खड़े हो चुके थे। आँखे अपनी तरफ आती भयानक रुदन करती दिमिका पर जमी हुवी थी। दमन जी को मैंने आपने पीछे कर लिया था। दिमिका मेरे लिए जानी पहचानी शक्ति थी और मुझे पूरा विश्वाश था की वो तो हमारे तंत्र कवचो का भेदन नहीं कर पायेगी। इसी विश्वाश पर मैंने भी किसी भी मंत्र कवच का संधान करने की कोशिश नहीं की। आ जा दिमिका,,,आ जा। लिपट जा मुझसे !! मैंने आपने दोनों हाथ खोल के फैला लिए,,और दिमिका को पुकारा। मेरी बात सुन कर दिमिका का रुदन और तीव्र हो था। उसका मुंह और बड़ा खुल गया ! पोपला मुंह एक सुरंग की तरह दिखाई देने लगा। रोते रोते वह अपनी काली जीभ भी निकाल लेती थी। उस क्षण उसका रुदन और भी डरावना हो जाता था। तीव्र वेग से गमन करती हुए दिमिका मुझसे आ टकराई, और मेने भी उसे बाहों में भर लिया। मेरे शरीर से लगते ही उसे हुआ अपनी गलती का एहसास। शायद तीव्र वेग और सन्यासी की आज्ञा पूरी करने की अधीरता में वो मेरे और दमन के कवचो का आभास ना पा सकी थी। तंत्र कवचो की गर्मी से उसका तामस सुखाना शुरू कर दिया। उसका रुदन अब क्रन्दन में परिवर्तित हो चूका था।

Reply With Quote
Reply Free Video Chat with Indian Girls


Thread Tools Search this Thread
Search this Thread:

Advanced Search

Posting Rules
You may not post new threads
You may not post replies
You may not post attachments
You may not edit your posts

vB code is On
Smilies are On
[IMG] code is On
HTML code is Off
Forum Jump



All times are GMT +5.5. The time now is 12:27 AM.
Page generated in 0.02326 seconds