Xossip

Go Back Xossip > Mirchi> Stories> Hindi > वासना ओर बदले की आग

View Poll Results: Do you like this story?
Yes 10 100.00%
No 0 0%
Voters: 10. You may not vote on this poll

Reply Free Video Chat with Indian Girls
 
Thread Tools Search this Thread
  #41  
Old 8th May 2016
badmaster122 badmaster122 is offline
 
Join Date: 4th June 2014
Location: Mother Earth
Posts: 947
Rep Power: 9 Points: 1222
badmaster122 is a pillar of our communitybadmaster122 is a pillar of our communitybadmaster122 is a pillar of our communitybadmaster122 is a pillar of our communitybadmaster122 is a pillar of our communitybadmaster122 is a pillar of our community
पुनीत- अरे क्या हुआ मुनिया.. खड़ी क्यों हो गई तुम?

मुनिया- नहीं बाबूजी.. ये गलत है.. मुझे ये सब नहीं करना..

पुनीत- अरे मुझ पर भरोसा रख.. मैं बस तुम्हें प्यार करूँगा और कुछ नहीं.. तुझे वो मज़ा दूँगा.. उसके बाद तू मुझे मज़ा देना बस..

मुनिया नादान थी और इस उम्र में किसी को भी बहला लेना आसान होता है। खास कर पुनीत जैसे ठरकी पैसे वाले लड़के के लिए मुनिया जैसी लड़की को पटाना कोई बड़ी बात नहीं थी।

मुनिया खुश हो गई और बिस्तर पर बैठ गई। उसकी आँखों में एक अजीब सी बेचैनी थी। वो बस पुनीत के लौड़े को निहार रही थी। अब उसका इरादा क्या था.. ये तो वही बेहतर जानती थी।

पुनीत- देख मुनिया.. मैं तुझे एक अलग किस्म की मालिश करना सिखाता हूँ.. जो हाथों और होंठ से होगी। तो सीधी लेट जा.. मैं तेरे जिस्म की मालिश करता हूँ। उसके बाद तू मेरे को वैसे ही करना.. ठीक है..!

मुनिया ने ‘हाँ’ में सर हिला दिया। बस अब क्या था.. पुनीत उस कच्ची कन्या पर टूट पड़ा। उसके नर्म होंठों को चूसने लगा। उसके छोटे-छोटे अनारों को दबाने लगा। कभी वो उसके छोटे से एक निप्पल को चूसता.. तो कभी हल्का सा काट लेता।

मुनिया- आह.. इससस्स.. बाबूजी.. आह्ह.. दुःखता है.. आह्ह.. कककक.. नहीं.. उफ़फ्फ़.. आह्ह..

पुनीत तो वासना की आग में बह गया था। उसको तो बस उस कच्ची चूचियों में जैसे अमृत मिल रहा हो। वो लगातार उनको चूसे जा रहा था और उसका लौड़ा लोहे की रॉड की तरह कड़क हो गया था। मगर पुनीत जल्दबाजी नहीं करना चाहता था। वो मुनिया को इतना तड़पाना चाहता था कि वो खुद कहे कि आओ मेरी चूत में लौड़ा घुसा दो.. तभी उसके बाद वो उसकी नादान जवानी के मज़े लूटेगा।

पुनीत अब चूचों से नीचे उसके गोरे पेट पर अपनी जीभ घुमा रहा था और मुनिया किसी साँप की तरह अपनी कमर को इधर-उधर कर रही थी।

उसको मज़ा तो बहुत आ रहा था। मगर थोड़ा सा डर भी लग रहा था कि कहीं पुनीत उसकी चुदाई ना कर दे। मगर बेचारी वो कहाँ जानती थी कि इस सबके बाद चुदाई ही होगी।

पुनीत के होंठ अब मुनिया की चंचल चूत पर आ गए थे.. जिसकी खुशबू उसको पागल बना रही थी। वो बस चूत को किस करने लगा।

मुनिया- ककककक आह.. बाबूजी आह्ह.. मेरे बदन में आ..आग सी लग रही है.. आह्ह.. न्णकन्न्..नहीं आह्ह.. यहाँ नहीं.. उफ़फ्फ़..

पुनीत- इसस्सश.. सस्स्सह.. चुपचाप मज़ा लो मेरी जान.. अभी देख तेरा कामरस आएगा उफ्फ.. क्या गर्म चूत है तेरी.. मज़ा आएगा चाटने में..

पुनीत चूत की फाँक को उंगली से खोलने लगा। वाह..अन्दर से क्या गुलाबी नजारा सामने था.. वो बस उसको चाटने लगा और मुनिया तड़प उठी।

पुनीत चूत के दाने पर अपनी जीभ घुमा रहा था और मुनिया सिसक रही थी। उसका तो बुरा हाल हो गया था.. किसी भी पल उसकी चूत बह सकती थी। उसने अपनी कमर को हवा में उठा लिया.. तो पुनीत ने उसकी गाण्ड के नीचे हाथ लगा दिया और कुत्ते की तरह स्पीड से उसकी चूत को चाटने लगा।

मुनिया- आआ आआ बा..बू..जी.. आह्ह.. इसस्स.. मुझे कुछ हो रहा है ओह.. हट जाओ वहाँ से.. आह्ह.. ससस्स उफ़फ्फ़ मेरा आह्ह.. निकलने ही वाला है।

पुनीत ने आँखों से इशारा किया कि आने दो.. और दोबारा वो चूत को रसमलाई की तरह चाटने लगा। कुछ ही देर में मुनिया झड़ गई। अब वो शांत हो गई थी.. मगर उसकी साँसें तेज-तेज चल रही थीं।

इधर पुनीत के लौड़े में दर्द होने लगा था क्योंकि वो बहुत टाइट हो गया था और वीर्य की कुछ बूँदें उसके सुपारे पर झलक रही थी। अब बस उसको किसी भी तरह चूत में जाना था.. मगर ये सफ़र इतना आसान नहीं था। एक कच्ची चूत को फाड़कर लौड़े को चूत की गहराई में उतारना इतना आसान नहीं होगा.. ये बात पुनीत जानता था।

पुनीत- क्यों मेरी जान.. मज़ा आया ना.. अब तू तो ठंडी हो गई। देख मेरे लौड़े का हाल बुरा हो गया.. चल जल्दी से इसको चूस कर ठंडा कर.. मेरी जान निकली जा रही है।

मुनिया की आँखें एकदम लाल हो गई थीं जैसे उसने 4 बोतल चढ़ा ली हों और उसका जिस्म इतना हल्का हो गया था कि आपको क्या बताऊँ.. वो तो बस हवा में उड़ रही थी।

पुनीत- मुनिया.. अरी ओ मुनिया.. कहाँ खो गई.. उठ ना यार.. जल्दी से आ जा..

पुनीत उसके पास सीधा लेट गया था उसकी आवाज़ के साथ मुनिया उसके पैरों के पास बैठ गई और लौड़े को हाथ में लेकर सहलाने लगी। कुछ देर बाद उसको अपने मुँह में भर कर चूसने लगी।

पुनीत ने अपनी आँखें बन्द कर लीं और बस मज़ा लेने लगा। मुनिया अब लौड़े को बड़े प्यार से चूस रही थी.. पहली बार तो उसको कुछ अजीब लगा था.. मगर इस बार वो बड़े अच्छे तरीके से चूस रही थी।

कुछ देर तक ये चुसाई चलती रही, अब पुनीत के लौड़े की सहन-शक्ति ख़त्म हो गई थी.. वो झड़ने को तैयार था, इस अहसास से पुनीत ने मुनिया के सर को पकड़ लिया।

पुनीत- आआ.. आह.. ज़ोर से चूस आह्ह.. मेरी जान.. आह्ह.. बस थोड़ी देर और आह्ह.. मेरा पानी बस निकलने ही वाला है।

Reply With Quote
  #42  
Old 8th May 2016
badmaster122 badmaster122 is offline
 
Join Date: 4th June 2014
Location: Mother Earth
Posts: 947
Rep Power: 9 Points: 1222
badmaster122 is a pillar of our communitybadmaster122 is a pillar of our communitybadmaster122 is a pillar of our communitybadmaster122 is a pillar of our communitybadmaster122 is a pillar of our communitybadmaster122 is a pillar of our community
दोस्तो, पुनीत का पानी निकालता.. इसके पहले कमरे का दरवाजा ज़ोर से खुला.. जैसे कोई बड़े गुस्से में खोला गया हो।

पुनीत और मुनिया तो ऐसे मोड़ पर थे कि उनको यह अहसास भी नहीं हुआ कि कौन आया है, बस मुनिया स्पीड में लौड़ा चूस रही थी और पुनीत उसके मुँह को चोद रहा था।

कुछ पल बाद लौड़े से पिचकारी निकली.. जो सीधी मुनिया के हलक में उतरती चली गई। इस बार मुनिया ने जल्दी से पूरा पानी गटक लिया और लौड़े पर से आख़िरी बूँद तक चाट कर साफ की।

Reply With Quote
  #43  
Old 8th May 2016
Perseus786's Avatar
Perseus786 Perseus786 is offline
!**Da Vinci Of Death**!
 
Join Date: 31st March 2013
Location: Gotham City
Posts: 3,962
Rep Power: 20 Points: 8444
Perseus786 has celebrities hunting for his/her autographPerseus786 has celebrities hunting for his/her autographPerseus786 has celebrities hunting for his/her autographPerseus786 has celebrities hunting for his/her autographPerseus786 has celebrities hunting for his/her autographPerseus786 has celebrities hunting for his/her autograph
Waaah kiya story hain bhai maza agaya , keep writing . . Ye story hazaro main ak banega
______________________________

Reply With Quote
  #44  
Old 8th May 2016
badmaster122 badmaster122 is offline
 
Join Date: 4th June 2014
Location: Mother Earth
Posts: 947
Rep Power: 9 Points: 1222
badmaster122 is a pillar of our communitybadmaster122 is a pillar of our communitybadmaster122 is a pillar of our communitybadmaster122 is a pillar of our communitybadmaster122 is a pillar of our communitybadmaster122 is a pillar of our community
Quote:
Originally Posted by Perseus786 View Post
Waaah kiya story hain bhai maza agaya , keep writing . . Ye story hazaro main ak banega
Thanks. Par aap akele padh rahe ho, aur koi reply hi nahi hai.

Reply With Quote
  #45  
Old 8th May 2016
Pappu76's Avatar
Pappu76 Pappu76 is offline
Custom title
 
Join Date: 16th April 2013
Location: Now in Your Heart.
Posts: 24,371
Rep Power: 138 Points: 121203
Pappu76 has hacked the reps databasePappu76 has hacked the reps databasePappu76 has hacked the reps databasePappu76 has hacked the reps databasePappu76 has hacked the reps databasePappu76 has hacked the reps databasePappu76 has hacked the reps databasePappu76 has hacked the reps databasePappu76 has hacked the reps databasePappu76 has hacked the reps database
Quote:
Originally Posted by badmaster122 View Post
धन्यवाद
Reps +25 added
______________________________
1. Indian Beauties Of My Choice
2.
All types of photos of my choice
---------------------------------------------------------------------
Disclaimer: I have taken these pictures from Internet which I feel. If you find any Private / Copyright Picture let me know so that I can remove it.

Reply With Quote
  #46  
Old 8th May 2016
Pappu76's Avatar
Pappu76 Pappu76 is offline
Custom title
 
Join Date: 16th April 2013
Location: Now in Your Heart.
Posts: 24,371
Rep Power: 138 Points: 121203
Pappu76 has hacked the reps databasePappu76 has hacked the reps databasePappu76 has hacked the reps databasePappu76 has hacked the reps databasePappu76 has hacked the reps databasePappu76 has hacked the reps databasePappu76 has hacked the reps databasePappu76 has hacked the reps databasePappu76 has hacked the reps databasePappu76 has hacked the reps database
Quote:
Originally Posted by badmaster122 View Post
धन्यवाद
Reps +25
______________________________
1. Indian Beauties Of My Choice
2.
All types of photos of my choice
---------------------------------------------------------------------
Disclaimer: I have taken these pictures from Internet which I feel. If you find any Private / Copyright Picture let me know so that I can remove it.

Reply With Quote
  #48  
Old 9th May 2016
badmaster122 badmaster122 is offline
 
Join Date: 4th June 2014
Location: Mother Earth
Posts: 947
Rep Power: 9 Points: 1222
badmaster122 is a pillar of our communitybadmaster122 is a pillar of our communitybadmaster122 is a pillar of our communitybadmaster122 is a pillar of our communitybadmaster122 is a pillar of our communitybadmaster122 is a pillar of our community
दोस्तो, पुनीत का पानी निकालता.. इसके पहले कमरे का दरवाजा ज़ोर से खुला.. जैसे कोई बड़े गुस्से में खोला गया हो।

पुनीत और मुनिया तो ऐसे मोड़ पर थे कि उनको यह अहसास भी नहीं हुआ कि कौन आया है, बस मुनिया स्पीड में लौड़ा चूस रही थी और पुनीत उसके मुँह को चोद रहा था।

कुछ पल बाद लौड़े से पिचकारी निकली.. जो सीधी मुनिया के हलक में उतरती चली गई। इस बार मुनिया ने जल्दी से पूरा पानी गटक लिया और लौड़े पर से आख़िरी बूँद तक चाट कर साफ की।

{अब दरवाजे को इतनी जोर से कीसने खौला ये बाद में देखते है। पहले टोनी (विवेक ओर सुनील का बोस) से मील कर आते है।}

रात के 11 बजे हाइवे पर एक बाइक बड़ी तेज़ी से जा रही थी.. उस पर जो शख्स बैठा था.. उसका नाम है टोनी.. उसकी उम्र लगभग 22 साल है। बाकी का इंट्रो बाद में.. तो चलिए.. आगे देखते हैं।

वो बाइक एक घर के पास जाकर रुकी और टोनी बाइक से उतरा और सीधा उस घर में चला गया। वहाँ कुछ अंधेरा था.. टोनी ने लाइट चालू की.. तो उसके सामने एक आदमी काले सूट में खड़ा था। जिसने चेहरे पर नकाब लगाया हुआ था और उसके हाथ में एक पैकेट था.. जिसे देख कर टोनी के चेहरे पर मुस्कान आ गई।

दोस्तो, यह कौन है.. इसके बारे में अभी नहीं बता सकता.. बस कुछ सस्पेंस है।

टोनी- वाह.. भाई.. आप तो ज़ुबान का एकदम पक्के निकले.. मेरे से पहले ही आप इधर आ गया.. क्या बात है?

भाई- मेरा यही फंडा है.. कि अगर तुम वक़्त के साथ चलोगे तो वक़्त तुम्हारा साथ देगा.. नहीं तो वो आगे निकल जाएगा और तुम पीछे रह जाओगे.. समझे?

टोनी- मान गया भाई.. ये टोनी आपको सलाम करता है।

भाई- ठीक है ठीक है.. वो दोनों(विवेक ओर सुनील) कहाँ हैं और कुछ इंतजाम किया या नहीं तुमने?

टोनी- लड़की(कोमल) मिल गई भाई.. वो दोनों के साथ है.. मैं खुद जाकर उसको समझाने वाला था.. मगर आपने यहाँ बुला लिया तो अब वो लोग उसको समझा देंगे।

भाई- गुड.. लेकिन वो लड़की एकदम हॉट लगनी चाहिए.. नहीं तो मेरा काम अधूरा रह जाएगा।

टोनी- अरे भाई.. वो ऐसी-वैसी नहीं है.. एक कॉलेज गर्ल के साथ-साथ कॉल-गर्ल है यानि पैसों के लिए कुछ खास लोगों से ही चुदवाती है और एक्टिंग भी अच्छी करती है.. आप टेन्शन मत लो..

भाई- देख कल वहाँ इस बार के मीटींग के लिए सिर्फ़ लड़के जमा होंगे.. मैंने तुमको बड़ी मुश्किल से फिट किया है। तुम वहाँ उसको साथ लेकर जाना.. प्लान याद है ना.. कैसे ले जाना है?

टोनी- हाँ भाई.. अच्छी तरह याद है..

भाई- बस कुछ भी हो.. तुम तीनों को जीतना ही चाहिए.. फिर उस साली को दिखा देंगे कि हम क्या चीज़ हैं.. समझे! बहुत बोलती थी कि तुम जैसे नामर्द से लड़की होना अच्छा है, अब साली रोएगी जब उसको अपनी मर्दानगी दिखाएँगे..

टोनी- मगर भाई आप कौन हो, अपना चेहरा तो दिखाओ और आप किस लडकी की बात कर रहे हो.. क्या उसको आप प्यार करते थे?

भाई- मैंने बताया था ना.. उसने मुझे नामर्द कहा था.. बस मैं उससे इसी बात का बदला लूँगा।

टोनी- इतनी सी बात के लिए इतना बड़ा गेम.. ना ना भाई.. आप कुछ छुपा रहे हो.. बात कुछ और ही है।

भाई- हाँ टोनी.. बात इससे भी बड़ी है.. सब बता दूँगा टोनी.. सब्र करो.. बस सही वक़्त आने दो।

टोनी- भाई आप टेन्शन ना लो.. उस साली को अच्छा सबक़ सिखा देंगे और उसके साथ उस हरामजादे को भी सब समझ आ जाएगा हा हा हा हा!

भाई- ठीक है ठीक है.. ये ले पैसे.. और मज़े करो.. कल वहाँ समय से पहुँच जाना..

टोनी- थैंक्स भाई.. वैसे एक बात पूछनी थी.. आप ये चेहरा छुपा कर क्यों रखते हो.. मैं तो आपका ही आदमी हूँ.. मुझे तो आप चेहरा दिखा ही सकते हो ना?

भाई- वक़्त आने दो.. चेहरा भी दिखा दूँगा और नाम भी बता दूँगा। अब ज़्यादा सवाल मत कर.. मैंने तुझे एक खास काम के लिए यहाँ बुलाया है.. वो सुन..

टोनी- जी बोलो भाई.. अपुन हर समय रेडी है आपके लिए..

भाई- तू अभी बुलबुल गेस्ट हाउस जा.. और शनिवार के लिए उसको बुक करवा दे.. उसके बाद सलीम गंजा के पास जाना और उसको कहना कि बुलबुल गेस्ट हाउस में पार्टी है.. अपना जादू दिखा.. ‘हँसों’ को जमा कर समझा।

टोनी- समझ गया भाई क्या कोड में बोला आपने.. ‘हँसों’ को हा हा हा.. मज़ा आ गया। अब तो पक्का धमाल होगा भाई.. कई दिनों से ऐसी पार्टी में नहीं गया.. अब तो मज़ा आ जाएगा।

इतना कहकर टोनी वहाँ से निकल गया और अपने काम को अंजाम देने के लिए दोबारा बाइक पर चल पड़ा।

बस दोस्तो, अब इसके साथ जाकर क्या करोगे.. आगे पता लग ही जाएगा कि कैसी पार्टी होनी है और क्यों होनी है..?

हम पुनीत के पास चलते हैं वहाँ कौन बीच में आ गया था.. देखते हैं।

अरे रूको.. पहले कोमल का हाल और बताए देता हूँ.. उस बात के बाद दोनों ने दोबारा कोमल को चोदना चाहा.. मगर वो नहीं मानी और सुबह की तैयारी का बोल कर वहाँ से निकल गई।

चलो अब पुनीत के फार्म पर चलते हैं।

Reply With Quote
  #49  
Old 9th May 2016
badmaster122 badmaster122 is offline
 
Join Date: 4th June 2014
Location: Mother Earth
Posts: 947
Rep Power: 9 Points: 1222
badmaster122 is a pillar of our communitybadmaster122 is a pillar of our communitybadmaster122 is a pillar of our communitybadmaster122 is a pillar of our communitybadmaster122 is a pillar of our communitybadmaster122 is a pillar of our community
मुनिया ने जब लौड़े को चाट कर साफ किया और पुनीत के बराबर में लेटी.. तो दरवाजे पर रॉनी खड़ा हुआ था.. जिसे देख कर मुनिया घबरा गई और जल्दी से उकड़ू बैठ कर अपना बदन छुपाने लगी।

पुनीत- आओ आओ.. रॉनी.. कहाँ था अब तक.. कसम से ये मुनिया तो कमाल की है यार.. खूब मज़ा देती है..

रॉनी- हाँ देख रहा हूँ.. वैसे कमाल तो तूने किया है.. इतनी जल्दी इसको मनाया कैसे?

पुनीत- अरे इसमें मनाना क्या था.. ये यहाँ आई ही मालिश के लिए है.. बस इसको शहर में कैसे मालिश होती है यही सब समझाया.. और ये सब सीख भी गई.. आओ तुम भी मालिश करवा लो।

मुनिया एकदम सहमी हुई कोने में बैठ गई थी.. जिसे देख कर पुनीत ने कहा- अरे मुनिया ऐसे डर क्यों रही है.. ये मेरा भाई है.. तुमको इसकी भी ऐसे ही मालिश करनी होगी।

मुनिया- बाबूजी मुझे सच में बहुत अजीब लग रहा है.. आपका शहर तो बड़ा अजीब है। आपका भाई सामने खड़ा और आप नंगे आराम से बैठे हैं.. मुझसे तो ऐसे नहीं होगा।

रॉनी- रहने दे.. नहीं करवानी मुझे मालिश.. पुनीत जल्दी कमरे में आ.. तुजसे कुछ बात करनी है।

इतना कहकर रॉनी वापस चला गया।

पुनीत- अरे पगली.. ऐसा क्यों बोली.. वो भाई है मेरा.. और कई बार तो हम साथ में मालिश करवाते हैं। अब सुन अभी तू सो जा.. कल से इस सबकी आदत डाल लेना.. समझी.. वरना नौकरी पक्की नहीं होगी।

मुनिया कुछ ना बोली और बस पुनीत को देखती रही.. जब तक वो कपड़े पहन कर चला ना गया, वो ऐसे ही बैठी रही.. उसके बाद कहीं उसकी जान में जान आई।

कमरे में जाकर रॉनी बिस्तर पर बैठ गया और उसके पीछे पुनीत भी आ गया।

रॉनी- वाउ यार.. तुमने तो कमाल कर दिया.. एक ही दिन में उस लड़की को इतना खोल दिया.. मान गया यार तेरेको..

पुनीत- तूने अभी मेरा कमाल देखा कहाँ है.. साली को दो बार अमृत पिला चुका हूँ। अब तीसरी बार उसकी जवानी का मज़ा लेता.. तो तू आ गया।

रॉनी- नहीं यार.. आज के लिए इतना काफ़ी है.. और वैसे भी मुझे तुजसे एक जरूरी बात करनी थी।

पुनीत- कैसी जरूरी बात.. क्या हुआह्ह?

रॉनी- कुछ देर पहले सन्नी का फ़ोन आया था.. वो साला टोनी है ना.. उसके दिमाग़ में कुछ चल रहा है। हमें ध्यान से रहने को कहा है।

पुनीत- वो तो कल यहाँ आ रहा है ना.. उसके दिमाग़ में क्या चल रहा है? साला जानता नहीं क्या हमें?

रॉनी- शनिवार के लिए उसने बुलबुल गेस्ट हाउस को बुक किया है.. वहाँ ‘हँसों’ को जमा करने वाला है साला।

{दोस्तो, अगर आप समझ ना पा रहे हो तो बता देता हूँ.. यह बुलबुल गेस्ट हाउस एक ऐसी जगह है.. जहाँ अमीर घर के लड़के और लड़कियाँ जमा किए जाते हैं और उन्हीं को ‘हंस’ कहा जा रहा है और पार्टी के नाम पर वहाँ नशे का कारोबार होता है।

आप समझ गए होंगे यह आज की नस्ल को बिगाड़ने का नया तरीका है.. तो प्लीज़ आप ऐसी किसी जगह जाने से अपने आप को बचाएँ।}

पुनीत- अच्छा उस साले फटीचर के पास इतने पैसे कहाँ से आए.. जो वो इतना उछल रहा है?

रॉनी- ये तो मुझे पता नहीं.. सन्नी कल आएगा तो बाकी की बात बता देगा.. मगर उसने खास तौर पर कहा है कि कल सबके सामने ज़्यादा बात नहीं हो पाएगी। तो आपको बता दूँ कि किसी भी तरह उस टोनी की बातों में मत आना.. वो जरूर कुछ प्लान कर रहा है।

पुनीत- अबे मैं कोई बच्चा हूँ क्या.. जो उसकी बातों में आ जाऊँगा? ये सब जाने दे.. ला बियर पिला.. साली ने सारी बियर लौड़े से चूस कर निकाल दी है।

रॉनी ने पुनीत को बियर दी और खुद भी बोतल लेकर बैठ गया।

Reply With Quote
  #50  
Old 9th May 2016
badmaster122 badmaster122 is offline
 
Join Date: 4th June 2014
Location: Mother Earth
Posts: 947
Rep Power: 9 Points: 1222
badmaster122 is a pillar of our communitybadmaster122 is a pillar of our communitybadmaster122 is a pillar of our communitybadmaster122 is a pillar of our communitybadmaster122 is a pillar of our communitybadmaster122 is a pillar of our community
सुबह के सात बजे गर्ल्स हॉस्टल में काफ़ी हलचल थी, छुट्टियों के चलते ज़्यादातर लड़कियाँ घर चली गयी थीं और जो कुछ बाकी थीं.. वो भी धीरे-धीरे जा रही थीं।

पूजा अपने कमरे में बैठी बाल बना रही थी.. तभी पायल वहाँ आ गई।

पायल- हाय पूजा.. कैसी हो.. रात को कहाँ चली गई थीं तुम? और वापस कब आईं.. मुझे तो पता ही नहीं चला?

पूजा- हाय.. मैं ठीक हूँ.. तू सुना क्या हाल है तेरा.. और तूने तो मुझे मना कर दिया था.. मगर गॉड ने एक ऐसा तगड़ा लौड़ा भेजा.. कि बस मज़ा आ गया.. बस तो मैं चुद कर ही वापस आ गई थी। तो तू बेसुध होकर घोड़े बेच कर सो रही थी, तेरी नाईटी भी खुली हुई थी।

पायल- ओ माय गॉड.. क्या बोल रही हो? कौन मिल गया? यहाँ तो सिर्फ़ लड़कियाँ ही हैं.. मैं तो ऐसे ही सोती हूँ.. सोने के बाद मुझे कुछ पता नहीं चलता.. कि क्या हो रहा है! नाईटी का क्या है.. खुल गई होगी..

पूजा- पता नहीं कौन था.. मगर था बहुत प्यारा.. और तू ऐसे ना सोया कर.. नहीं सोते में कोई तेरी चुदाई कर जाएगा.. हा हा हा हा..

पायल- मेरी तो समझ के बाहर है.. तुम कुछ भी मत बोलो और किसकी मजाल है.. जो मुझे छेड़े.. मेरे पापा को जानती नहीं क्या तुम?

पूजा- हाँ हाँ.. जानती हूँ तेरे पापा को.. और तेरे भाई को भी.. बड़े गुस्से वाले हैं। यार.. ये सब जाने दे.. तू मेरी बात सुन..

पूजा ने उसको कहा कि वो सच बोल रही है.. उसके बाद रात की पूरी बात बताई.. जिसे सुनकर पायल के होश उड़ गए।

पायल- हे भगवान.. तुम कैसी हो यार.. किसी के भी साथ छी: छी:..

पूजा- ओ सती सावित्री.. बस कर हाँ.. मुझे ऐसे जलील मत कर.. तूने तो मना कर दिया था और वो कोई ऐरा-गैरा नहीं था.. कोई खास ही था.. समझी.. और तू जो ये ‘छी: छी:’ कर रही है ना.. देख लेना.. एक दिन तू ऐसी बन जाएगी कि लोग तुम पर थूकेंगे.. जो लड़की ज़्यादा शरीफ़ बनती है ना.. उनको कभी ना कभी ऐसा लड़का मिलता है.. जो उसको कहीं का नहीं छोड़ता.. समझी.. ये जवानी बड़ी जालिम होती है.. तू कब तक इसे संभाल कर रखेगी.. एक ना एक दिन कोई आएगा और तेरे मज़े लूट लेगा और तू उस दिन मुझे याद करेगी कि कोई थी पूजा..

पायल- नहीं ऐसा कुछ नहीं होगा.. और मैंने कब कहा कि मैं कभी किसी को अपना नहीं बनाऊँगी.. हाँ.. मैं अपना जिस्म दूँगी.. मगर सिर्फ़ अपने पति को.. वो भी शादी के बाद.. समझी..

पूजा- शादी… हा हा हा हा.. अरे मेरी जान.. अभी शादी को बहुत समय है.. तब तक कोई मंजनू आएगा और तुझे ‘लैला-लैला’ बोलकर अपना लोला दे जाएगा हा हा हा हा..

उसकी बात सुनकर पायल भी हँसने लगी।

पूजा- तुम्हें लेने कोई आएगा क्या?

पायल- अरे नहीं यार.. मैं कौन से दूसरे शहर की हूँ.. यहीं की तो हूँ.. खुद ही चली जाऊँगी।

पूजा- यार तू इसी शहर की होकर हॉस्टल में क्यों रहती है?

पायल- बस ऐसे ही यार.. घर पर पढ़ाई ठीक से नहीं होती।

पायल ने पूजा को टालते हुए ये बात कही.. उसके माथे पर शिकन भी आ गई थी.. उस समय उसके बाद दोनों बस नॉर्मली यहाँ-वहाँ की बातें करने लगी।

उधर बाहर गेट के पास बबलू यहाँ का चौकीदार और रामू जो साफ-सफ़ाई करता है.. दोनों बातें कर रहे थे।

दोस्तो, हॉस्टल के कैम्पस में एक कमरा बना हुआ है.. जहाँ ये दोनों साथ में रहते हैं। बबलू रात को एक राउंड लगा कर कमरे में आ जाता है.. मगर वो बीती रात को काफ़ी लेट आया था।

रामू- अरे बबलू भाई.. रात को बड़े देर से आए तुम.. भाई कहाँ रह गए थे?

बबलू- अरे का बताएं भाई.. जब से यहाँ आया हूँ.. साली नींद ही नहीं आती है.. कैसी सुन्दर-सुन्दर लड़कियाँ है यहाँ पर.. देख कर बहुत मज़ा आता है।

रामू- ओये.. चुप कर ओ पगले.. कोई सुन लेगा और ये रात को तू ऐसे गैलरी में मत घूमा कर.. किसी दिन पकड़ा गया ना.. तो नौकरी तो जाएगी साथ में पिटाई भी खूब होगी..

बबलू- अबे हट.. कौन ससुरा हमको पकड़ेगा.. और साला मैं कौन सा किसी के साथ ज़बरदस्ती करता हूँ.. बस देख कर मज़ा ही तो लेता हूँ.. तू जानता नहीं है.. यहाँ की लड़कियों की बुर बहुत फड़फ़ड़ाती है.. साली आपस में रगड़वा कर मज़ा लेती हैं.. एक से बढ़कर एक हैं।

रामू- हाँ मैं सब जानता हूँ.. मगर ये सब बड़े घर की छोकरियाँ हैं.. अपना कुछ नहीं हो सकता यहाँ..

बबलू- तेरा तो पता नहीं.. पर मेरा बहुत कुछ होगा.. तू नहीं जानता मैंने रात कितना मज़ा किया है यार..

रामू- ओह्ह.. क्या बात करता है? किसी को पटा लिया क्या.. भाई बता ना.. कौन है वो लड़की..? और क्या किया रात को?

बबलू- अभी नहीं.. फिर कभी बताऊँगा अभी मुझे ऑफिस में जाना है.. ठीक है चलता हूँ।

ओके फ्रेंड्स.. यहाँ कुछ खास नहीं हुआ.. वैसे आपको कुछ सोच में जरूर डाल दिया मैंने.. कि रात को पूजा के साथ कोई और था या ये बबलू था.. चलो इसका भी पता लग जाएगा। अभी आगे देखते हैं कि फार्म हाउस पर क्या हुआ?

Reply With Quote
Reply Free Video Chat with Indian Girls


Thread Tools Search this Thread
Search this Thread:

Advanced Search

Posting Rules
You may not post new threads
You may not post replies
You may not post attachments
You may not edit your posts

vB code is On
Smilies are On
[IMG] code is On
HTML code is Off
Forum Jump



All times are GMT +5.5. The time now is 10:15 PM.
Page generated in 0.02328 seconds